Parenting tips when raising children with different or special needs | Nayi Disha
Videos
|
Bookmark
Like
0 286

Clinical Psychologist and Dyslexia Therapist, Afshan Jabeen hands out some tips to bear in mind when working with children born with special needs.

  • Ensure a child involves himself/herself in all activities through all the sense organs. This helps them participate holistically and engage themselves fully in everything they do.
  • Minimize screen-time to the extent possible. Experiential learning is a far better teacher for your child.
  • Prompt and help your child understand ‘Cause & Effect’ in everyday life activities – Encourage them to ask “Why?”.
  • Social stimulation is important for your child’s learning. Guide and help them socialize with people outside of the home environment while ensuring they are well aware of personal safety in the process of meeting and greeting individuals outside of their immediate home environment.  

DISCLAIMER: Please note that this guide is for information purposes only. Please consult a qualified health practitioner for safe management.

Check this video on The path to acceptance of a child’s developmental disability – How to come to terms with it?

क्लीनिकल साइकोलोजिस्ट एवं डिस्लेक्सिया थेरेपिस्ट, अफशां जबीन ने इस वीडियो में विशेष जरूरतों वाले बच्चों के देख रेख के कुछ सुझाव दिए हैं - • बच्चों को ऐसे कार्यों में शामिल करें जिनमें उनके सभी अंग (जैसे दृष्टि, स्पर्श) शामिल हो I • बच्चों को स्क्रीन के आदि ना बनाए (टीवी अध्वा डिजिटल उपकरणों का उपयोग) और उनको स्क्रीन के उपयोग से संभव हद तक कम रखें I वास्तविक दुनिया का रोजमर्रा के अनुभव आपके बच्चे के लिए कहीं बेहतर है I • अपने बच्चे को रोज़मर्रा कामों से 'कारण और प्रभाव ' को समझने में मदद करें, और उन्हें सवाल पूछने के लिए प्रोत्साहित करें। • बच्चे के अभ्यास में सामाजिक संपर्क ज़रूरी है I घर के माहौल एवं बाहर के लोगों के साथ मिलझुलने में उनकी मदद करें एवं प्रोत्साहित करें (घर के बहार के लोगों के साथ बातचीत करते समय बच्चों को अपनी निजी सुरक्षा के बारे में सीखना न भूलें) I अस्वीकरण: कृपया ध्यान दें कि यह केवल आपकी जानकारी के लिए है। कृपया निदान और प्रबंधन के लिए चिकित्सा विशेषज्ञ से परामर्श करें। इस वीडियो को भी देखें – बच्चों को संवाद करने में मदद करने के लिए सरल सुझाव

Article 1 of 3 articles in series
|

56879
03/06/2020

The importance of early intervention & best care practices for a child with developmental disabilities.

Ms.Afshaan Jabeen

56877
03/06/2020

The path to acceptance of a child’s developmental disability – How to come to terms with it?

Ms.Afshaan Jabeen

Suggested Service Providers
Select your language